Sat. Nov 28th, 2020
भुत-प्रेत का साया या Multi personality disorder नाम की बीमारी

अक्सर आप लोगो ने अपने आसपास सुनाने को मिला होगा की उसपर भुत या आत्मा का साया हैं, क्या से पूरी तरह से सच हैं या फिर Multi personality disorder नाम की बीमारी का नतीजा हैं. आईये इतिहास में पीछे जाकर इसके बारे में विस्तार से आपको बताते हैं.

Advertisement
Advertisement
Multi personality disorder

आखिर कौनसे लक्षणों के कारण आम लोग उसको भुत-प्रेतों के वस में होना मान लेते हैं

आमतौर पर किसी भी इंसान जो साधारण हरकत नही करता और जैसा उसका सवभाव हैं उसके उल्ट किसी दुसरे इंसान की भांति हाव-भाव और हरकते करता हैं उसको हम लोग भूतो के साये के वास में मान लेते हैं पर ऐसा बिलकुल भी नही हैं.

ये भी पढ़े>>>Horror Movies देखने पर हमे डर क्यू लगता हैं

दरशल ऐसा इन्सान एक प्रकार कि दिमागी बीमारी जिसका नाम Multi personality disorder हैं और इसको हम split personality के नाम से भी जानते हैं, के कारण होता हैं और इसी को ही भुत-प्रेत या आत्मा का साया मान लेते हैं

आखिर ये Multi personality disorder होता क्या हैं ?

Multi personality disorder एक ऐसी बीमारी होती हैं जिसमे इन्सान अपने अंदर एक दुसरे इंसान को पैदा कर लेता हैं, साफ़ शब्दों में कहे तो शरीर एक होता हैं पर इन्सान दो ,

Multi personality disorder

आप इसको अभी इसको भुत-प्रेत के साथ जोडकर देखते होगे पर ऐसा बिलकुल नही हैं, दरशल ऐसा इंसानों में खुद की दुसरो से हिफाजत के लिए होता हैं. मान लीजिये अगर कोई इन्सान कमज़ोर हैं पर वो अपनी कमजोरी को छिपाना चाहता हैं तो नार्मल से कुछ अलग व्यवहार करेगा. बिलकुल ऐसा ही इस बीमारी में होता हैं.

Multi personality disorder किसी को क्यू होता हैं  

अधयन्न किया गया हैं की जब किसी इंसान को बचपन से की किसी तरह की Sexually,Mentally या फिर Physically abuse यानि उसपर पर बिना बात के मार पिटाई, उससे बात बात पर लड़ते रहना और किसी किसी case में तो बच्चो के साथ शारीरिक सम्बंद बनाने की कोशिश की हो तो बच्चे इन सब सदमो को सहन नही कर पाते और खुद को डिप्रेशन में डाल लेते हैं.

जब उनको बहार से कोई मदद करने नही आता तो वो खुद में ही अपनी दुनिया बना लेते हैं जिसमे उनका शरीर एक दुनिया हैं और आत्मा को अलग-अलग व्यक्तित्व(Behaviour) के इंसानों में ढाल लेते हैं, ऐसा वे खुद के अकेलेपन को दूर करने के लिए भी करते हैं.

Multi personality disorder का इतिहास

Multi personality disorder को एक बीमारी के रूप में स्वीकार 19th Century में किया गया था, इससे पहले इसको भुत-प्रेत, साया, आत्मा से जोडकर देखा जाता था और इनका इलाज जादू-टोना, झाड -फुक और तंत्र-मत्र से करते थे.

इसका इतिहास भी बहुत पुराना हैं,पहले इसको कोई बीमारी मानते ही नही थे और इसको अपनी कमाई का जरिया भी बना लिया गया जो की आजतक चल रहा हैं.

इस बीमारी के बारे में कई फिल्मे भी बन चुकी हैं जिसमे कोई इन्सान खुद को दुसरो की तरह बना लेता है और एक साथ कई किरदार अपने अंदर समेट लेता हैं. इस बीमारी पर South industry की AWE और Aparichit नाम की फिल्मे भी बन चुकी हैं और अभी हाल ही में Abhishek Bachchan की एक वेब सीरीज Breathe(into the shadow) भी आई हैं. जिसमे इस बीमारी के बारे में खुलकर बताया गया हैं

ये भी पढ़े >>Top 5 Best Thrillers & Crime Drama Web Series To Watch Like “Mirzapur 2”

क्या इस बीमारी का इलाज़ मुमकिन हैं

जी हाँ, अब इसका इलाज़ मुमकिन हैं इसके लिए आपको Psychological Therapy का सहारा लेना होगा, इसमें उस इन्सान को Therapy के जरिये उसकी असली Personality का छोडकर बाकि को हटा दिया जाता हैं.

ये कई तरीको से करते हैं जैसे Hypnosis करके उसको उसकी बाकि Personality के बारे म बता कर और उसके Past की बाते को भुलवा कर और भी भुत सारे रास्ते होते हैं

क्या इस बीमारी के और भी मरीज हैं ?

Ross की एक अधयन्न में एक इन्सान में 15 तरह की Personality हो सकती है. पर एक case Truddi Chase नाम महिला थी जो की पेशे से एक अमेरिकन लेखक थी, उनमे 92 अलग अलग Personality पाई गयी थी.

Trudi Chase Split Personality

और इनका इलाज भी हुआ था

Leave a Reply

Live Updates COVID-19 CASES