Sat. Nov 28th, 2020
Parnab Mukherjee News

Parnab Mukherjee News: बड़े ही दुःख के साथ आपको सूचित किया जाता हैं

Advertisement
Advertisement

की हमारे भारत के पूर्व राष्ट्रपति माननीय श्री प्रणब मुखर्जी नही रहे. ये कहना बिलकुल गलत नही होगा की सभी भारत के सबसे सम्मानित राजनेताओं में से एक के रूप में जाना जाता है उन्होंने भारत के राजनीतिक क्षेत्र में अपनी छाप छोड़ी है.

pp 1
Parnab Mukherjee News: नही रहे पूर्व राष्ट्रपति माननीय श्री प्रणब मुखर्जी

Parnab Mukherjee News: क्या हुआ था उनको

Parnab Mukherjee के बारे जानने के लिए भारत के बहुत लोग उत्सुक थे,सभी भगवान् से पूर्व राष्ट्रपति के ठीक होने की खबर सुनना चाहते थे पर समय को कुछ और ही मंज़ूर था. बड़े ही दुःख के साथ आपको सूचित किया जाता हैं की पूर्व राष्ट्रपति माननीय श्री प्रणब मुखर्जी, जिनका सोमवार को निधन हो गया हैं, श्री मुखर्जी ने सेना के अनुसंधान और रेफरल अस्पताल को अपने निवास पर गिरने के बाद भर्ती कराया गया था.अस्पताल में, उन्होंने इसके अलावा उन्होंने कोविद -19 के लिए भी सकारात्मक परीक्षण किया.उनके दिमाग में खून के थक्के को मिटाने के लिए उनका ऑपरेशन किया गया था.

Parnab Mukherjee के बारे में कुछ बाते

bb

प्रणब मुखर्जी का जन्म 11 Dec 1935 में एक बंगाली परिवार में हुआ था. इनका जन्म स्थान Mirati हैं जो की अब पश्चिम बंगाल के बिर्धुम जिले में आता हैं. मुखर्जी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में एक वरिष्ठ प्रमुख थे और भारत सरकार के भीतर कई मंत्री विभागों में रहे. प्रणब मुखर्जी एक भारतीय राजनेता थे, जिन्होंने (2012 से 2017) 5 वर्ष तक भारत के तेरहवें राष्ट्रपति की सेवा में अपना योगदान दिया. राष्ट्रपति के रूप में अपने चुनाव के लिए, मुखर्जी 2009 से 2012 तक केंद्रीय वित्त मंत्री थे. उनको  भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान, 2019 में भारत के राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद द्वारा भारत रत्न से सम्मानित किया गया था.

ये भी पढ़े .. 1st E-highway India Project क्या हैं और ये कहाँ लागू होगा

मुखर्जी ने 1969 में राजनीति में अपना ब्रेक प्राप्त किया जब तत्कालीन प्रधान मंत्री इंदिरा गांधी ने उन्हें कांग्रेस के टिकट पर भारत की संसद के उच्च सदन राज्यसभा के लिए चुने जाने में मदद की.एक उल्का वृद्धि के बाद, वह निश्चित रूप से गांधी के सबसे भरोसेमंद लेफ्टिनेंटों में से एक और 1973 में अपने अलमारी में एक मंत्री बन गए. मुखर्जी की कई मंत्री क्षमता में उनकी सेवा का समापन 1982-84 में भारत के वित्त मंत्री के रूप में उनके पहले कार्यकाल में हुआ. इसके अलावा वह 1980 से 1985 तक राज्यसभा के भीतर सदन के नेता रहे.

One thought on “Parnab Mukherjee News: नही रहे पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी”

Leave a Reply

Live Updates COVID-19 CASES