Mon. Nov 30th, 2020
किसानो की मांग या फिर छज्जा तोड़ने पर हंगामा

किसानो की मांग या फिर छज्जा तोड़ने पर हंगामा: आप अभी अपने टीवी चैनल को खोलकर देख लीजिये, आपको बस एक ही बात पर हमारी मीडिया बहस करती मिलेगी की Riya Chakarbourty

Advertisement
Advertisement
ने ये किया, वो किया या फिर इनसे थोडा समय मिलेगा तो सुनाने को मिलगा की BMC ने कंगना के ऑफिस में की तोड़-फोड़ और उनके ऑफिस के बहार का छज्जा तोड़ दिया.

किसानो की मांग या फिर छज्जा तोड़ने पर हंगामा
किसानो की मांग या फिर छज्जा तोड़ने पर हंगामा

ये मेरी बनी-बनाई बात नही हैं जाकर आप खुद देख सकते हैं. पर इन सबमे बहुत दूर कुछ दिन पहले हुए हरियाणा के गाँव पिपली की एक घटना, जिसमे किसानो पर लाठी चार्ज की गयी, के बारे में चर्चा करने और इसके बारे में अपने चैनल पर दिखने के कोई भी राजी तक नही हुआ हैं. क्युकि उनको बेकसूर किसानो की हड्डी टूटने से ज्यादा कंगना के दफ्तर के छज्जे टूटने का ज्यादा ग़म हैं.

कोई नही जानना चाहता की उन किसानो की गलती सिर्फ ये थी की उन्होंने अपनी मांग पुरी करवाने के के लिए आन्दोलन किया और उसकी सजा ये दी हजारो के संख्या में निःहाथे किसानो पर पुलिस की लाठियों की बोछार कर दी गयी, क्या अपने हक़ के लिए मांग करना भी गलत हैं क्या??

ये भी पढ़े >>>>>

और इनसब्मे हमारे देश के नौजवान किसी राजनीतिक पार्टी के समर्थक बनने के चक्कर में इतने घुमराह हो गये हैं कि उनके हक़ के लिए भी देश की बुजर्ग किसानो को सामने आना पड़ा.

शुशांत सिंह राजपूत को खोने का ग़म सबको हैं और उसकी हत्या हुई हैं या फिर खुदखुशी इसके लिए हमारे देश तहकीकात करने वाले विभाग हैं और वो अपना काम कर भी रहे हैं. लेकिन इसके दूसरी और हमारी देश की मीडिया और अन्य समाचार एजेंसी ने तो अपना खुद का अलग-अलग न्याय पालिका बना लिया हैं.

रिया,कंगना, BMC और SSR के चक्कर में देश में बाकि मुद्दों पर तो ध्यान ही दिया ही नही जा रहा हैं.लेकिन ऐसा भी नही की सभी लोग ऐसा ही कर रहे हैं, News 24 के एक न्यूज़ एंकर संदीप चौधरी ने किसानो के मुद्दो पर चर्चा भी की और सरकार से इस घटना के बारे में सवाल भी पूछे हैं

किसानो की मांग या फिर छज्जा तोड़ने पर हंगामा

और इसी बीच हरियाणा के कुछ कलाकारों ने देश के अन्न दात्ता के कठिन जीवन की एक लम्बी कहानी एक छोटी सी रागिनी कैसे माध्यम से पेश की हैं, जिसको अपूर्व यादव द्वारा लिखा गया हैं और Ramphal Brothers द्वारा गाया गया हैं.

किसानो की मांग या फिर छज्जा तोड़ने पर हंगामा

Leave a Reply

Live Updates COVID-19 CASES